What is internet in hindi/ इंटरनेट क्या है तथा इसके फायदे और नुकसान क्या क्या हैं

What is internet in hindi इंटरनेट क्या है तथा इसकी शुरुआत और कब और कैसे हुई, इसे किसने बनाया इसका मालिक कौन है

ये कुछ हमारे मन में सवाल होते हैं जिन्हें कभी ना कभी जानने की हमारे अंदर इच्छा जागृत होती है कि आखिर इंटरनेट हम जिसका इस्तेमाल उठते सोते घूमते बागते दिन-रात करते हैं आखिर इसका इतिहास कैसा है

तो यदि आपके मन में भी कुछ इसी तरह के सवाल है और आप भी इंटरनेट के बारे में जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पढ़कर आप इंटरनेट के बारे में काफी कुछ जानकारी हासिल कर पाएंगे

जो आपके नॉलेज को और भी बेहतर बना देगा तो अब हम ज्यादा देर ना करते हुए आगे बढ़ते हैं और बात करते हैं टॉपिक पर और सबसे पहले बात करते हैं इंटरनेट क्या है इसके बारे में

What is internet/ इंटरनेट क्या है
What is internet/ इंटरनेट क्या है

What is internet- इंटरनेट क्या है?

इंटरनेट सूचनाओं का आदान-प्रदान तकनीकी सुविधाओं और अत्याधुनिक सिस्टम का वह भंडार है जो दुनिया भर के कंप्यूटरों से मिलकर बना है

आप इसे आसान शब्दों में समझने के लिए दुनिया के उन अलग-अलग कंप्यूटरों के नेटवर्कों को जोड़कर बना एक सामूहिक नेटवर्क भी कह सकते हैं

इस नेटवर्क में दुनिया के वो लाखों-करोड़ों कंप्यूटर्स आपस में जुड़े हुए होते हैं और इन कंप्यूटरों को एक दूसरे से टेलीफोन लाइनों के जरिए इंटरनेट को जोड़ा गया है

या इनके अतिरिक्त भी दूसरे साधनों से कंप्यूटरों को इंटरनेट के साथ जोड़ा जा सकता है

और ये अपना सारा डाटा और इंफॉर्मेशन राउटर और सर्वर के जरिए एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर तक पहुंचाने में इस्तेमाल करते हैं या राउटर और सर्वर ही इन्हें जोड़कर रखता है

जब कोई भी मैसेज एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर तक जाता है तो इस बीच का जो प्रोसेस होता है उसे प्रोटोकॉल करता है यानी IP ( Internet protocol ) अब इस प्रोटोकॉल को आसान शब्दों में समझें तो यह होता है इंटरनेट चलाने का नियम जो एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में लिखा गया है

हम इसके बारे में थोड़ी सी चर्चा और करते हैं इंटरनेट अबतक दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है परंतु इंटरनेट किसी एक कंपनी या सरकार की संपत्ति नहीं है इसमें बहुत सारे सर्वर जुड़े हुए हैं जो अलग-अलग संस्थाओं और प्राइवेट कंपनियों के है

और इंटरनेट एक क्लाइंट सर्वर पर आधारित सेवा है और इसे आप कुछ इस तरह समझ सकते हैं जब आप इंटरनेट चलाने के लिए जो भी कंप्यूटर या मोबाइल फोन प्रयोग करते हैं

तो ये होते हैं क्लाइंट और जहां पर डाटा स्टोर होता है उसे सर्वर कहते हैं तथा सर्वर पर स्टोर किसी भी डाटा को एक्सेस करने के लिए हमें जरूरत होती है एक वेब ब्राउज़र की जोकि क्लाइंट प्रोग्राम कहलाते हैं

हम इस वेब ब्राउज़र की मदद से सर्वर पर मौजूद डाटा को देख सकते हैं जो कुछ इस तरीके से text, image, MP3, video के रूप में

इंटरनेट काम कैसे करता है How does internet work

हम सबको यह तो पता है कि हम internet से connect है पर पर आखिर यह internet काम कैसे करता है कहने का की हमारे computers and mobile devices ये सब internet से कैसे जुडे हुए हैं
इंटरनेट से हमारे computer जुडे हुए होते हैं एक ISPs ( internet service provider) के माध्यम से जो हमे और internet को जोड़ने का काम करता है
और इस connection को हमारे computer and mobile devices तक पहुंचाता है cable या wireless के माध्यम से

इंटरनेट का पूरा नाम क्या है what is the full form of internet

Internet का पूरा नाम है “interconnected network” यानी परस्पर नेटवर्क जो वाकई बहुत बडा network है दुनिया के सभी Web Services worldwide का इस लिए हम इसे world wide web या web भी कह सकते हैं

इस नेटवर्क में दुनिया के तमाम private and public organisation, Research Centre जैसी तमाम services शामिल होते हैं

Internet एक बहुत बडा संग्रह है परस्पर नेटवर्क का और ये बना है दुनिया भर के आपस में कइ interconnected Gateway and router के connected होने से

इंटरनेट की शुरुआत कब और कैसे हुई तथा क्या है इंटरनेट का इतिहास

आज के इस व्यापक आधुनिक और मायाजाल रूपी इंटरनेट की शुरुआत 1969 में कोल्ड वॉर( शीत युद्ध) के दौरान हुआ था जो रसिया और अमेरिका के बीच हुआ

और इसी दौरान इंटरनेट का प्रयोग अमेरिका की सेना के लिए किया गया था इस समय अमेरिकन सेना चाहती थी कि इनके पास एक बड़ी विश्वसनीय संचार सेवा हो

तब इन्होंने Pentagon की ARPA यानी (advanced research project agency) का गठन किया गया और इनकी मदद से ARPANET नाम का एक इंटरनेट बनाया जो चार कंप्यूटरों को जोड़कर बनाया गया था और इस तरह से इंटरनेट की शुरुआत हुई

बाद में 1972 में इसमें कंप्यूटरों की संख्या बढ़कर 37 हो गई और 1973 तक इसका विस्तार इंग्लैंड नार्वे जैसे देशों में भी हो चुका था और अब लगभग इंटरनेट सार्वजनिक होने लगा था बाद में 1974 में ARPANET को सामान्य लोगों के प्रयोग के लिए लाया गया जिसे टेलनेट नाम दिया गया

और फिर बाद में 1982 में इंटरनेट के इस्तेमाल के लिए कुछ नियम बनाए गए जिसे प्रोटोकॉल कहा जाता है इसका जिक्र हमने ऊपर भी किया था इन प्रोटोकॉल को TCP/IP (transmission control protocol/ internet protocol) के नाम से जाना गया बाद में 1990 में कोल्ड वॉर अपनी समाप्ति पर आ चुका था इसलिए डिफेंस के लिए खोजा गया इस अविष्कार को अमेरिकन सरकार ने National Science Foundation को सौंप दिया और अब इसका नाम ARPANET की जगह इंटरनेट कर दिया गया लेकिन अब भी इस इंटरनेट को इस्तेमाल करना हर किसी के पहुंच तक नहीं थी क्योंकि उस समय www या डोमेन जैसी चीजें नहीं बनी थी

तो 1990 के समय में इंटरनेट इस्तेमाल करने के लिए लेन की जरूरत होती थी अगर आपको इंटरनेट इस्तेमाल करना है या किसी डाटा तक पहुंचना है उस डाटा तक पहुंचने के लिए उस कंप्यूटर का पता होना जरूरी था जिसमें वह लेन या डाटा मौजूद है

लेकिन फिर बाद में 1991 में वैज्ञानिक Tim Berners-Lee ने www की खोज करके इस समस्या को हमेशा के लिए खत्म कर दिया और इस तरीके से इंटरनेट की शुरुआत हुई

भारत में इंटरनेट की शुरुआत कब हुई थी

अब जब हम इंटरनेट की हिस्ट्री के बारे में जानकारी जुटा चुके हैं तो हमारे मन में भारत में इंटरनेट की शुरुआत कब हुई थी यह भी जानना जरूरी हो जाता है तो हम आपको बता दें भारत में इंटरनेट की शुरुआत 15 अगस्त 1995 में हुआ था जिसे “विदेश संचार निगम लिमिटेड यानी” (VSNL) द्वारा लांच किया गया था और इंटरनेट का इस्तेमाल पहली बार कोलकाता में किया गया था

 

इंटरनेट का मालिक कौन है

अधिकतर लोग गूगल करके यह जानना चाहते हैं कि इंटरनेट का असली मालिक कौन है तो हम इस लेख आपके इस सावाल का भी आंसर दे देते हैं

इंटरनेट को भले ही अमेरिका की सेना के द्वारा बनाया गया हो पर आज इंटरनेट खुद अमेरिका की भी संपत्ति नहीं है अगर हम इंटरनेट के असली मालिक की बात करें तो इंटरनेट का मालिक वही है जो इंटरनेट का इस्तेमाल करता है क्योकि यह एक सार्वजनिक संपत्ति है

तो ये थी जानकारी इंटरनेट की अब बात कर लेते हैं हमें इंटरनेट से क्या क्या फायदे और नुकसान हैं

इंटरनेट की परिभाषा

Internet एक वैश्विक व्यापक क्षेत्र नेटवर्क ( Global wide area network) है जो computer and mobile systems को आपस में connect करता है
जो उच्च bandwidth data lines होते हैं और जो internet का आधार होते हैं इन लाइनों को जोडा जाता है प्रमुख internet hub के साथ जो data को वितरित करतें हैं दूसरे location को जैसे Web Services and ISPs में
अब यदि हमे internet से connect होना है तब हमें जरूर होगी एक internet service provider यानी ISP की तब जाकर हम internet access कर सकते हैं अब यंहा इस ISP का काम होता है एक बिचौलियों की तरह हमारे और इस internet के बीच में
अब ये ISPs  ज़्यादातर broadband internet तक पहुंच प्रदान करते हैं fibre cable,DSL और cable के जरिए जब हम internet से connect होते हैं एक public Wi-Fi signal के जरिए तो यहाँ public Wi-Fi router, connect होता है एक ISP यानी internet service provider के साथ हमें और internet को जोड़ने के लिए
अब यहाँ पर भी हमारे Cellular data Towers को जुडा हुआ होना आवश्यक है उस internet service provider, ISP के साथ हमारे उन connected devices को internet प्रदान करने के लिए

 

इंटरनेट के फायदे और नुकसान /advantage of internet and disadvantage of internet

पहले हम इसके  advantages के बारे में बात कर लेते हैं वैसे तो इंटरनेट के बहुत फायदे हैं पर हम कुछ चुने हुए फायदों को नीचे दर्शा कर समझाने की कोशिश करते हैं

. सूचनाओं का आदान-प्रदान और सेवाओं से जोड़ना

इंटरनेट के आने से हम अपने सुचना जानकारियों का किसी के साथ आदान प्रदान कर सकते हैं संपर्क कर सकते हैं अपने किसी जरुरी फाइल या documents को मेल के जरिये भेज सकते हैं इंटरनेट की मदद से किसी को video call या voice Message आसानी से कर सकते है इतना ही नहीं इंटरनेट की मदद से हम उन तमाम सेवाओं से जुड़कर उनका लाभ ले सकते हैं जिनके लिए आपको बहुत पैसों की जरुरत होती थी और उनका घर बैठे लाभ ले सकते हैं

. ऑनलाइन सेवाओं का आनंद 
इंटरनेट के आने से आज सबकुछ online हो चुका है जैसे ऑनलाइन विडियो देखना,गेम खेलना, मूवी डाउनलोड करना ऑनलाइन किसी से बात करना, पढ़ाई करना,फॉर्म भरना या ऑनलाइन ऑफिस के कामों को करना, बिल पेमेंट करना, मोबाइल रिचार्ज करना, ऑनलाइन शोपिंग करना, यंहा तक की ऑनलाइन पैसे भेजना भी अब बात यंही पर खत्म नहीं होती आप इंटरनेट की मदद से Social media services जैसे Whatsapp, Facebook, Instagram, Twitter इन सबका लाभ इंटरनेट की मदद से उठा सकते हैं

. इंटरनेट से व्यपार को बढ़ावा 
अब भला ऐसे कैसे हो सकता इस डिजिटल युग में की आपका बिजनिस व्यपार सिर्फ आपके आसपास तक ही सीमित हो इंटरनेट के आने से लाखों छोटे और बड़े व्यपारियों को अपने बिजनिस को ऑनलाइन लाने का एक सुनहरा अवसर मिला जंहा ये इंटरनेट की मदद से अपने सभी सामानों को ऑनलाइन बेच पा रहे हैं

और आज इंटरनेट की मदद से  इनके छोटे से बिजनिस को दुनिया भर में एक नई पहचान मिला और ये सब हुआ है इंटरनेट की मदद से

. इंटरनेट से पैसे कमाना 
इंटरनेट के ना आने से पहले किसी ने कभी ये कल्पना भी नहीं ना किया रहा होगा की एक दिन ऐसा भी आएगा की लोग इंटरनेट से पैसे कमा पाएंगे पर ये सब संभव हो पाया इंटरनेट के आने से और आज लोग घर बैठे इंटरनेट की मदद से लोखों रूपये कमा पा रहे हैं जैसे ब्लॉग्गिंग करके, youtube channel बनाकर, फ्रीलांसिंग करके और भी कई तरीके आज इंटरनेट पर मौजूद हैं जिनकी मदद से लोग पैसे कमा रहे हैं

यदि आप भी इंटरनेट से पैसे कैसे कमाते है इनके बारे में सीखना चाहते हैं तो दिए गए लिंक पर क्लिक करके इंटरनेट से पैसे कैसे कमाए की पूरी जानकारी ले सकते हैं

इंटरनेट के नुकसान-Disadvantage of internet

अब तक हमने इंटरनेट के फायदे के बारे में बात किया लेकिन अब हमारे लिए ये भी जानना जरुरी है की इसमें फायदे के साथ साथ क्या नुकसान है
. इंटरनेट मुफ्त नहीं है 
सबसे पहली बात इंटरनेट कनेक्शन बिलकुल भी मुफ्त नहीं है और लगातार ये महंगा होता जा रहा है ऐसे में इंटरनेट चलाने के लिए हमें बहुत पैसे खर्चने पड़ते हैं तो अगर आप इंटरनेट कनेक्शन लेना भी चाहें तो प्रीपेड प्लान आपके लिए सबसे सही हो सकता है जैसे आज कल jio के आने के बाद आपको इंटरनेट की अच्छी सुविधा प्रीपेड प्लान पर मिल जाता है जिसका आप उपयोग कर सकते हैं
. इंटरनेट समय की बर्बादी
इसका सबसे बड़ा Disadvantage समय की बर्बादी है यदि आपको अपने ऑफिस के काम करना हो या और कोई जरुरी काम करना हो तो इंटरनेट आपके लिए सबसे अच्छा साधन है लेकिन अगर आपके पास करने को कुछ भी नहीं है तो यह हमारे लिए सबसे बड़ा समय बर्बादी का कारण साबित होता है जैसे दिन दिन भर Social media पर समय किसी के साथ Whatsapp करना facebook, instagram पर समय बिताना
पोर्र्नोग्राफी अश्लीलता और हिंसक छवियाँ तथा झूठी ख़बरें 
आज सबसे ज्यादा इंटरनेट पर पोर्न फिल्मे खुल्लम खुला दिखाए जा रहें जो सामाज में लगातार बढ़ रहे महिला शोषण को बढ़ावा देने का काम कर रहें हैं
 आपको हर रोज इंटरनेट पर ऐसी हिंसक तस्वीरें देखने को मिल जाएँगी जो जाती धर्म समाज की एकता को बाँटने का काम कर रही हैं

हर सेकेण्ड हमें एक नई झूठी खबर देखने को मिल रही हैं जो कंही ना कंही इंटरनेट के मध्याम से लोगों में बहुत तेजी से फैलाए जाते हैं

. हैकिंग, निजियता पहचान की चोरी धोखाधडी विज्ञापन,स्पैम मेल और वायरस 
इंटरनेट पर अगर खुद को सिक्योर रखना चाहते हैं तो हमेशा इंटरनेट पर खुद को होसियार रखें अपनी निजी जानकारियों से सम्बंधित किसी को कोई भी जानकारी ना दें आजके समय में हैकिंग एक आम बात हो चुकी है आपकी एक गलती आपके पूरे जीवन की कमाई सेकेंडों में उड़ा सकती है क्योकि आजकल कई हैकर्स आपको बैंक के नाम पर फोन करके आपकी पर्सनल जानकारी जुटाने में माहिर हैं इस लिए किसी को कभी भी अपनी निजी जानकारी साझा ना करें

धोखेधडी विज्ञापन- आजकल इंटरनेट पर नौकरी से जुडी झूठी विज्ञापन काफी तेजी से दिखाए जा रहे हैं जिनमे बिन पैसों के नौकरी देने की बात करके गुमराह किया जाता है ताकि आपकी निजी जानकारी तक पंहुचा जा सके और आपसे पैसे कमाया जा सके

स्पैम मेल- अगर आपको भी आपके Email id पर इस तरह के विज्ञापन दिखाए जा रहे है या एक ही जगह से बार बार मेल किया जा रहा तो ऐसे मेलों से आप हमेशा सावधान रहें और इन्हें delete कर दे या spam लिस्ट में डाल दें तथा ऐसे किसी भी अनजान लिंक पर कभी भी क्लिक ना करें क्योकि उन links पर वायरस भी छुपा हो सकता है अगर चाहें तो इनसे बचने के लिए आप अपने लैपटॉप, कम्पूटर, मोबाइल फोन पर एक अच्छा एंटी वायरस भी इस्तेमाल कर सकते हैं

एक और बात आप अपने कम्पूटर या मोबाइल फोन में कभी भी अपने email id, netbanking, जैसे जरुरी चीजो का पासवर्ड सेव करके ना रखें आजकल इंटरनेट पर इनका सबसे ज्यादा खतरा हो चुका है

. इंटरनेट की लत से स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव 
इंटरनेट की लत भी किसी नसे से कुछ कम नहीं है एक बार अगर किसी को इसका लत लग जाए तो इसके लिए किसी भी हद तक जा सकता है इंटरनेट के बिना उसे और कुछ नहीं सूझता वन्ही इसके स्वास्थ्य सम्बन्धी कई समस्याएं भी है वो कहते कोई भी चीज हो अगर जरुरत से ज्यादा होने लगे तो उसका नुक्सान होना तय है इंटरनेट की मुख्य समस्याएं हैं आँखों में दर्द, हांथो में दर्द, वजन का बढ़ना, मानसिक तनाव, कमर में दर्द,सूखापन इत्त्यादी

Conclusion

हमने इस लेख में यह सीखा What is internet in hindi इंटरनेट क्या है इंटरनेट के क्या-क्या फायदे हैं इंटरनेट से क्या नुकसान है तथा इसकी शुरुआत कैसे और कब हुई इंटरनेट का मालिक कौन है विषयों के बारे में जिनके बारे में जानना हर इंटरनेट यूजर को जरूरी होता है तुम मुझे उम्मीद है आपको इस लेख से इंटरनेट के बारे में काफी कुछ जानकारी हुई होगी अगर आपको यह लेख पसंद आई हो तो आप हमें अपनी प्रतिक्रिया जरूर बताएं धन्यवाद सभी को

1 thought on “What is internet in hindi/ इंटरनेट क्या है तथा इसके फायदे और नुकसान क्या क्या हैं”

Leave a Comment

error: Content is protected !!